Actions

Difference between revisions of "अक्षत"

From जैनकोष

(Imported from text file)
m
 
Line 1: Line 1:
 <p> पूजा के जल, गन्ध, अक्षत, पुष्प, नैवेद्य, दीप, धूप और फल इन अष्ट द्रव्यों में एक द्रव्य । यह अक्षत चावल होता हे । इसे चढ़ाते समय ‘अक्षताय नम:’ यह मंत्र बोला जाता है । <span class="GRef"> महापुराण 11. 135, 17.251-252, 40.8 </span></p>
+
 <p> पूजा के जल, गन्ध, अक्षत, पुष्प, नैवेद्य, दीप, धूप और फल - इन अष्ट द्रव्यों में एक द्रव्य । यह अक्षत चावल होता हे । इसे चढ़ाते समय ‘अक्षताय नम:’ यह मंत्र बोला जाता है । <span class="GRef"> महापुराण 11. 135, 17.251-252, 40.8 </span></p>
 
   
 
   
  

Latest revision as of 18:00, 2 August 2020



पूजा के जल, गन्ध, अक्षत, पुष्प, नैवेद्य, दीप, धूप और फल - इन अष्ट द्रव्यों में एक द्रव्य । यह अक्षत चावल होता हे । इसे चढ़ाते समय ‘अक्षताय नम:’ यह मंत्र बोला जाता है । महापुराण 11. 135, 17.251-252, 40.8


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ