Actions

Difference between revisions of "अक्षौहिणी"

From जैनकोष

(Imported from text file)
m
 
Line 13: Line 13:
  
 
== पुराणकोष से ==
 
== पुराणकोष से ==
  <p> सेना के 9 भेदों में एक भेद । यह सेना सर्वाधिक शक्ति सम्पन्न होती है । यह दस अनीकिनी सेनाओं के बराबर होती है । इसमें इक्कीस हजार आठ सौ सत्तर रथ और इतने ही हाथी, एक लाख नौ हजार तीन सौ पचास पदाति और पैसठ हजार छ: सौ दस अश्वारोही सैनिक होते हैं <span class="GRef"> पद्मपुराण 56.3-13  </span><span class="GRef"> पांडवपुराण 18.172-173  </span><span class="GRef"> हरिवंशपुराण  </span>में अक्षौहिणी के नौ हजार हाथी, नौ लाख रथ, नौ करोड़ अश्वारोही और नौ सौ करोड़ पदाति सैनिक बताये गये हैं <span class="GRef"> हरिवंशपुराण  </span>50.75-76</p>
+
  <p> सेना के 9 भेदों में एक भेद । यह सेना सर्वाधिक शक्ति सम्पन्न होती है । यह दस अनीकिनी सेनाओं के बराबर होती है । इसमें इक्कीस हजार आठ सौ सत्तर रथ और इतने ही हाथी, एक लाख नौ हजार तीन सौ पचास पदाति, और पैसठ हजार छ: सौ दस अश्वारोही सैनिक होते हैं - <span class="GRef"> पद्मपुराण 56.3-13  </span><span class="GRef"> पांडवपुराण 18.172-173 | </span><span class="GRef"> हरिवंशपुराण  </span>में अक्षौहिणी के नौ हजार हाथी, नौ लाख रथ, नौ करोड़ अश्वारोही और नौ सौ करोड़ पदाति सैनिक बताये गये हैं - <span class="GRef"> हरिवंशपुराण  </span>50.75-76</p>
 
   
 
   
  

Latest revision as of 18:58, 2 August 2020

== सिद्धांतकोष से ==

सेना का एक अंग - देखें सेना


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ


पुराणकोष से

सेना के 9 भेदों में एक भेद । यह सेना सर्वाधिक शक्ति सम्पन्न होती है । यह दस अनीकिनी सेनाओं के बराबर होती है । इसमें इक्कीस हजार आठ सौ सत्तर रथ और इतने ही हाथी, एक लाख नौ हजार तीन सौ पचास पदाति, और पैसठ हजार छ: सौ दस अश्वारोही सैनिक होते हैं - पद्मपुराण 56.3-13 पांडवपुराण 18.172-173 | हरिवंशपुराण में अक्षौहिणी के नौ हजार हाथी, नौ लाख रथ, नौ करोड़ अश्वारोही और नौ सौ करोड़ पदाति सैनिक बताये गये हैं - हरिवंशपुराण 50.75-76


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ