Actions

बद्ध

From जैनकोष



पं.ध./उ./६६ मोहकर्मावृतो बद्धः । = मोहनीय कर्म से आवृत ज्ञान को बद्ध कहते हैं ।

Previous Page Next Page