एलेय

From जैनकोष



( हरिवंश पुराण सर्ग 17/श्लो. नं.) हरिवंशी राजा दक्षका पुत्र था ॥3॥ अपनी पुत्रीके साथ व्यभिचार करनेवाले अपने पिताके कुचारित्रसे ॥15॥ दुःखी हो अन्यत्र जाकर इलावर्धन ताम्रलिपि नाम नगर व माहिष्मती नामक नगरी बसायी। अंतमें दीक्षा धारण कर ली ॥16-24॥


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ