ऐरावत क्षेत्र

From जैनकोष



राजवार्तिक अध्याय 3/10/20/181/26 रक्तारक्तोदयोः बहुमध्यदेशभाविनी अयोध्या नाम नगरी। तस्यामुत्पन्न ऐरावतो नाम राजा। तत्परिपालत्वाज्जनपदस्यैरावताभिधानम्।

= रक्ता तथा रक्तोदा नदियोंके बीच अयोध्या नगरी है। इसमें एक ऐरावत नामका राजा हुआ है। उसके द्वारा परिपालित होनेके कारण इस क्षेत्रका नाम ऐरावत पड़ा है। ऐरावत क्षेत्रका लोकमें अवस्थानादि-देखें लोक - 3,3।

• ऐरावत क्षेत्रमें काल परिवर्तन आदि-देखें भरत क्षेत्र



पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ