खचराचल

From जैनकोष



विजयार्ध पर्वत । महापुराण 5.291, 62. 241


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ