चंडरवा

From जैनकोष



इस नाम का एक शक्ति-शल्य । इस शस्त्र का प्रयोग करके सहस्रविजय ने विद्याधर चंद्रप्रतिम को आकाश से अयोध्या के महेंद्रोदय वन में गिराया था । पद्मपुराण 64.27


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ