चंद्रगुप्त ३

From जैनकोष

गुप्तवंश का प्रथम राजा जिसने गुप्तों की बिखरी हुई शक्ति को समेटकर मगध की विस्तृत भूमि पर एक छत्र राज्य की स्थापना की और उसके उपलक्ष्य में गुप्त संवत् प्रचलित किया। समय–ई.320-330।(देखें इतिहास - 3.4)।


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ