चंद्रनंदि

From जैनकोष



  1. भगवती आराधनाकार शिवार्य के दादागुरु। अपर नाम कर्म प्रकृत्याचार्य। समय–ई.श.1 का प्रारंभ। ( भगवती आराधना/ प्र.16/प्रेमी जी)।
  2. कुमारनंदि के गुरु। शक 638 (ई.716)। (जै./2/87)।


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ