चंद्रमति

From जैनकोष



वीतशोका नगरी के राजा मेरुचंद्र की रानी । यह कृष्ण की पटरानी और गौरी की जननी थी । हरिवंशपुराण 60. 103, 104


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ