चंपक

From जैनकोष



(1) एक वृक्ष । तीर्थंकर मुनिसुव्रत को इसी वृक्ष के नीचे कैवल्य हुआ था । महापुराण 20. 56, 67.46-47

(2) कंस का एक हाथी । हरिवंशपुराण 36.13

(3) समवसरण मै चंपक वन की दक्षिण-पश्चिम दिशा में स्थित चंपकपुर का निवासी एक देव । हरिवंशपुराण 5.428

(4) विजयदेव के नगर से पच्चीस योजन दूर स्थित समवसरण के चार वनों में एक वन । महापुराण 22.163, 182, 199-204, हरिवंशपुराण 5.422


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ