चतुर्थकाल

From जैनकोष



अवसर्पिणी काल के छ: भेदों में दुःषमा-सुषमा नामक चौथा भेद । महापुराण 3. 17-18, हरिवंशपुराण 1.26


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ