छन्वीविचिति

From जैनकोष



छंदशास्त्र । यह अनेक अध्यायों का ग्रंथ है । इन अध्यायों में प्रस्तार, नष्ट, उद्दिष्ट, लघु, गुरू, यति और अध्वयोग का वर्णन है । वृषभदेव ने अपने पुत्रों को इसकी शिक्षा दी थी । महापुराण 16. 113-114


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ