षटकर्म

From जैनकोष



वृषभदेव द्वारा प्रजा की आजीविका के लिए बताये गये छ: कार्य । वे हैं― असि, मसि, कृषि, विद्या, वाणिज्य और शिल्प कर्म । महापुराण 16. 179-180, 191, हरिवंशपुराण 9.35, पांडवपुराण 2.154


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ