खनि

From जैनकोष



खान-आजीविका का एक साधन । महापुराण 28.22


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ