खरदूषण

From जैनकोष



सिद्धांतकोष से

पद्मपुराण/9/ श्लोक मेघप्रभ का पुत्र था (22)। रावण की बहन चंद्रनखा को हर कर (25) उससे विवाह किया (10/28)।


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ


पुराणकोष से

मेघप्रभ का पुत्र । इसने रावण की बहिन चंद्रनखा का अपहरण करके उसके साथ विवाह किया था । यह चौदह हजार विद्याधरों का स्वामी, रावण का सेनापति और शंबूक तथा सुंद का पिता था । लक्ष्मण ने इसे सूर्यहास खड्ग से मारा था । पद्मपुराण 9.22-38, 10. 28, 34, 49, 43. 40-44, 45.22-27


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ