चंद्रगति

From जैनकोष



सीता के भाई भामंडल का पुत्रवत् पालनकर्त्ता एक विद्याधर । यह चाहता था कि जनक की पुत्री सीता के साथ भामंडल का विवाह हो जाये । पर ऐसा नहीं हो सका । जब इसे पता लगा कि सीता तो भामंडल की बहिन है इसे वैराग्य उत्पन्न हो गया और भामंडल को अपना राज्य सौंपकर यह सर्वहित आचार्य के पास दीक्षित हो गया । पद्मपुराण 26.130-139,30.7-63


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ