चंद्रपुर

From जैनकोष



सिद्धांतकोष से

विजयार्ध की दक्षिण श्रेणी का एक नगर–देखें विद्याधर


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ


पुराणकोष से

(1) विजयार्ध की दक्षिणश्रेणी का एक सुंदर और सुरक्षित नगर । महापुराण 19.52-53, 71.405

(2) भरतक्षेत्र का एक सुंदर नगर । यहाँ काश्यपगोत्री महासेन राजा राज्य करता था । उसकी रानी लक्ष्मणा ने तीर्थंकर चंद्रप्रभ को जन्म दिया था । महापुराण 54.163-170, पद्मपुराण 20. 44

(3) इसी नगर में राजा हरि और उसकी रानी श्रीधरा के व्रतकीर्तन नाम का पुत्र हुआ था । पद्मपुराण 5.135


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ