चंद्रप्रभा

From जैनकोष



(1) दीक्षाभूमि खंडवन पहुँचने के लिए तीर्थंकर महावीर की इस नाम की पालकी । इसे सर्वप्रथम भूमिपालों ने उठाया था । वे इसे लेकर सप्त पद चले थे । इसके बाद विद्याधर इसे लेकर सप्त पद चले ओर अंत में सभी देवगण इसे आगे ले गये थे । महापुराण 74. 299-302 पांडवपुराण 1.9, वीरवर्द्धमान चरित्र 12.43-47

(2) चंद्रदेव की देवी । हरिवंशपुराण 60. 108


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ