चंद्रप्रभ चरित्र

From जैनकोष



  1. आ.वीरनंदि (ई.950-999) कृत महाकाव्य (ती./3/55)।
  2. आ.श्रीधर (ई.श.14) की प्राकृत रचना।
  3. आ.शुभचंद्र (ई.1516-1556) की संस्कृत रचना (ती/367)


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ