चंद्रमरीचि

From जैनकोष



राम का सहायक एक विद्याधर राजा । यह बड़ा उत्साही वीर था । अनेक विद्याधर राजा इसके साथ थे । पद्मपुराण 54.32


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ