चंद्रावर्तपुर

From जैनकोष



एक नगर । यहाँ का राजा आनंदमाल था । यह भी विद्याधर राजा वह्निवेग और उसकी रानी वेगवती से उत्पन्न आहल्या के स्वयंवर में आया था । पद्मपुराण 13.75-78


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ