चंद्रिणी

From जैनकोष



(1) पश्चिम विदेह क्षेत्रस्थ रत्नसंचयनगर के राजा महाघोष की भार्या । यह पयोबल की जननी थी । पद्मपुराण 5.136-137

(2) भरत की भाभी । पद्मपुराण 83. 94


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ