चतुर्गति

From जैनकोष



चार गतियाँ । नरक, तिर्यंच, मनुष्य और देव । ये चार गतियाँ होती है । महापुराण 42.93


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ