चतु:शाल

From जैनकोष



राम-लक्ष्मण के भवन नंद्यावर्त का एक कोट । महापुराण 83. 4-5


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ