चंद्रप्रतिम

From जैनकोष



देवगीतपुर नगर निवासी चंद्रमंडल और उसकी भागा सुप्रभा का पुत्र । विद्याधर सहस्रविजय के साथ इसका युद्ध हुआ । इसे शक्ति लगी । भरत ने शक्ति हटाकर उसे जीवन दिया । पद्मपुराण 64.24-39


पूर्व पृष्ठ

अगला पृष्ठ